Bhopal News: भारतीय सेना के जवान की फंदे पर लटकी मिली लाश 

Share

Bhopal News: पत्नी से फोन पर हुई थी कई बार बात, सतना से भोपाल काम के लिए आने का बोलकर निकला था, चार दिन पुराना शव, जेब में लॉज की चाबी से मिले सुराग की बदौलत परिजनों तक पहुंची पुलिस, आत्महत्या की वजह पर अभी सस्पेंस बरकरार

Bhopal News
ग्राफिक डिजाईन टीसीआई

भोपाल। भारतीय सेना में तैनात एक जवान की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। उसकी लाश पुलिस को पेड़ पर लटकी मिली थी। यह घटना भोपाल (Bhopal News) शहर के खजूरी सड़क थाना क्षेत्र की है। जिसकी जानकारी पुलिस तक वन विभाग के कर्मचारी ने पहुंचाई थी। फिलहाल शव की पहचान उसके जेब में लॉज की मिली चाबी से हो गई है। वह सतना से भोपाल काम के सिलसिले में आने का बोलकर निकला था। पुलिस ने परिजनों को घटना की जानकारी दे दी है। सतना से भी परिजन भोपाल पहुंच गया है। हालांकि अभी तक आत्महत्या की वजह को लेकर कोई ठोस सुराग पुलिस को नहीं मिले हैं। पुलिस को सेना के जवान के मोबाइल की तलाश है।

मोबाइल में छिपा है मौत से पहले का राज, इसलिए चल रही है उसकी तलाश

खजूरी सड़क (Khajuri Sadak) थाना पुलिस के अनुसार इस घटना की जानकारी 4 मई को पुलिस को पता चली थी। यह खबर पुलिस को प्रीतम सिंह मैहर (Preetam Singh Mehar) ने दी थी। वह वन विभाग का कर्मचारी है। इस सूचना पर खजूरी सड़क पुलिस मर्ग 26/24 दर्ज कर मामले की जांच करने पहुंची। पुलिस ने पेड़ से लाश उतारकर तलाशी ली तो एक चाबी मिली। उस चाबी में स्वामी शांति प्रकाश धर्मशाला (Swami Shanti Prakash Dharamshala) का पता लगा था। इसकी जानकारी जुटाई तो वह बैरागढ़ (Bairagad) थाना क्षेत्र में पाया गया। पुलिस की टीम वहां पहुंची तो पता चला कि वह कमरा नंबर 209 की चाबी है। पुलिस ने उस कमरे को खोलकर सामान की तलाशी ली तो उसमें दस्तावेज संदीप कुमार (Sandeep Kumar Singh) पिता राकेश सिंह उम्र 35 साल के मिले। वह सतना (Satna) जिले में रहता था। इसके बाद सतना पुलिस की मदद से उस पते पर पुलिस टीम सतना से पहुंचाई गई। शव काफी पुराना हो चुका था। वह पहचानने योग्य नहीं था। इसलिए जूते और हाथ घड़ी दिखाई गई तो वह संदीप कुमार सिंह का बताया गया। जिसके बाद परिजनों को भोपाल आने के लिए पुलिस ने बोल दिया। पुलिस को इस मामले में हाई प्रोफाइल होने का अंदेशा है। इसलिए पूरी सावधानी के साथ मामले की तस्दीक की जा रही है। परिजन बुधवार को भोपाल आ गए हैं।

भोपाल में आकर किससे मिला यह जांच का विषय

प्रभारी थाना प्रभारी एसआई वनवारी लाल (SI Banwari Lal) ने बताया कि संदीप कुमार सिंह भारतीय सेना (Indian Ary) में जवान हैं। उसकी तैनाती फिलहाल पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी (Siliguri) में हैं। वह 14 मई को सतना से भोपाल के लिए चला था। लेकिन, उसकी बैरागढ़ स्थित स्वामी शांति प्रकाश धर्मशाला में एंट्री 30 मई की है। संदीप कुमार सिंह की शादी 2012 में रामा सिंह (Rama Singh) के साथ हुई थी। पुलिस (Bhopal News) को उसका मोबाइल नहीं मिला है। पुलिस ने परिजनों से पता लगाया तो पत्नी ने बताया उसकी 30 मई तक कई बार बातचीत हुई थी। पहले उसका फोन संदीप कुमार सिंह के मोबाइल से आ रहा था। फिर दूसरे नंबरों से वह कॉल कर रहा था। उसने बताया था कि उसका मोबाइल चोरी हो गया हैंं। हालांकि इस संबंध में अभी चोरी होने की पुष्टि नहीं हुई है। पुलिस का कहना है कि इस मामले में अभी कई जांच होना बाकी है। जिसमें संदीप कुमार सिंह के मोबाइल कॉल डिटेल पर पूरी जांच टिकी हुई है। जिससे यह साफ हो सकेगा कि वह भोपाल में आकर किन—किन व्यक्तियों से मिला। जिसके बाद यह साफ हो सकेगा कि वह भोपाल किन कारणों से भोपाल आया था। इस मामले की जांच एएसआई बाबूलाल वर्मा (ASI Babulal Verma) कर रहे हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: नौकरी नहीं मिली तो पटरी पर लेट गया
Don`t copy text!