Bhopal News: पंप हाउस के नजदीक जर्जर ढांचे में दबकर युवक की मौत 

Share

Bhopal News: नगर—निगम की टीम ने काफी मशक्कत के बाद निकालकर हमीदिया अस्पताल पहुंचाया, जहां कुछ देर बाद दम तोड़ा

Bhopal News
यह है वह हिस्सा जिसमें सुनील की दबने से मौत हो गई।

भोपाल। नगर निगम के पंप हाउस के नजदीक जर्जर ढ़ांचें में दबने से एक युवक की मौत हो गई। यह घटना भोपाल (Bhopal News) शहर में स्थित बैरागढ़ रोड के नजदीक ईसाई कब्रिस्तान के सामने हुई। यहां बड़े तालाब के कैचमेंट एरिया में बनी चार्ज पंप हाउस में यह ढांचा था। यहां गुरुवार सुबह एक लड़का उसमें बुरी तरह से फंस गया था। उसे निगम के अमले ने निकाल तो लिया लेकिन उपचार के दौरान हमीदिया अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

ऐसे पहुंचा था वह जर्जर हिस्से तक

बैरागढ़ (Bairagad) थाना पुलिस के अनुसार घटना की जानकारी नगर निगम अतिक्रमण प्रभारी महेश गौहर (Mahesh Gauhar) को मिली थी। उन्होंने तत्काल टीम के साथ मौके पर पहुंचकर डेढ़ घंटे तक रेस्क्यू अभियान चलाया। उसे बेहोशी की हालत में हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) भेजा गया था। यहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। वहां पर युवक अपने भाई के साथ बकरी चराने गया हुआ था। बकरियों को बड़े तालाब के कैचमेंट एरिया में छोड़कर उसके बीच बने पंप हाउस (Pump House) के जर्जर ढांचे के पास बैठा था। तभी वह अचानक ढह गया। जिस कारण उसमें 20 वर्षीय सुनील उसमें फंस गया। वह कोहेफिजा ब्रिज के नीचे विजय नगर (Vijay Nagar) के पास रहता था। घटना 16 मई की दोपहर साढ़े बारह बजे हुई थी। छोटे भाई अनिल ने लोगों से मदद मांगी थी। हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) के डॉक्टर की सूचना पर बैरागढ़ पुलिस मर्ग 29/24 दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। अभी तक पुलिस को यह पता नहीं चल सका कि जर्जर हिस्से का निर्माण किस व्यक्ति ने कराया था।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bank Of Maharashtra Loan Scam Part-4: एमपी का रेवड़ी कल्चर, राजधानी में तीन करोड़ रूपए ऐसे बांट दिए 
Don`t copy text!