Bhopal Court News: अधिक ब्याज का लालच देकर ऐंठ ली रकम

Share

Bhopal Court News: थाने में कार्रवाई की बजाय पुलिस ने समझौता कराया, करार से मुकरा तो वयोवृद्ध महिला ने अदालत में लगाया था परिवाद

Bhopal Court News
भोपाल जिला अदालत—फाइल फोटो

भोपाल। निजी परिवाद में हुई सुनवाई के बाद पुलिस को जालसाजी का मुकदमा दर्ज करने के आदेश हुए हैं। इस घटना की शुरूआत 2013 से हुई थी। विवाद भोपाल (Bhopal Court News) शहर के शाहजहांनाबाद इलाके का है। जिसमें विवाद की परिस्थितियां बनने पर वृद्धा का समझौता कोहेफिजा थाना पुलिस ने करा दिया था। लेकिन, उसको भी जब आरोपी ने तोड़ा तो वृद्धा ने अदालत से मदद मांगी। अब पुलिस को भोपाल अदालत ने एफआईआर दर्ज करने के साथ—साथ जल्द चार्जशीट दाखिल करने के आदेश दिए हैं।

इस कारण दर्ज किया गया मुकदमा

शाहजहांनाबाद थाना पुलिस के अनुसार यह आदेश भोपाल जिला न्यायालय में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी निमिष राजा की अदालत ने दिए थे। जिस पर 31 मार्च की दोपहर लगभग डेढ़ बजे 153/23 धारा 420/423 जालसाजी और लेन—देन के दस्तावेजों से मुकरने का प्रकरण दर्ज किया गया। यह घटना जनवरी, 2013 से शुरू हुई थी। जिसके संबंध में लखविंदर कौर (Lakhvinder Kaur) की तरफ से निजी परिवाद लगाया गया था। जिसमें आरोपी मोहम्मद हसन (Mohammed Hasan) पिता तवक्कुल हुसैन उम्र 50 साल को आरोपी बनाया गया। वह कोहेफिजा स्थित रिगालिया हाईट में रहता है। इससे पहले लखविंदर कौर ने पुलिस अधिकारियों को कई आवेदन दिए थे। इतना ही नहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) के यहां भी उसने आवेदन किया था। जिसकी सुनवाई नहीं हो रही थी। पीड़िता की उम्र 73 साल है जिससे आरोपी ने सवा दस लाख रूपए ले लिए थे।

यह है पूरा घटनाक्रम जिसमें कोर्ट हुई सख्त

Bhopal Court News
ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

लखविंदर कौर ने पुलिस को बताया कि वह पीरगेट स्थित बांबे मनकनटाईन शाखा में रकम जमा करने जा रही थी। तभी वहां आरोपी मोहम्मद हसन मिला था। वह उसी बैंक में भी नौकरी करता था। उसने कहा कि बैंक में रकम जमा करने पर उसे ज्यादा ब्याज नहीं मिलेगा। वह नगर निगम भोपाल में ठेका लेता है। जिसमें वह रकम लगाने पर वह उसको 15 से 20 हजार रूपए महीना देता रहेगा। भरोसे के लिए उसने 11 चेक भी दिए थे। उसे आरोपी जून, 2019 तक रकम देता रहा। लेकिन, उसके बाद भुगतान करने उसने बंद कर दिया। जिसकी शिकायत अगस्त, 2020 में कोहेफिजा थाने में की गई। इस संबंध में थाना पुलिस   ने कोई कार्रवाई नहीं की थी। जिसके बाद वह गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के पास पहुंची। यहां आरोपी ने समझौता किया और करार किया कि वह आठ हजार रूपए महीना उसको देता रहेगा। लेकिन, वह आठ की बजाय कभी तीन तो कभी पांच हजार रूपए देता रहा। इस कारण उसने शाहजहांनाबाद थाने में शिकायत की थी। जब यह एफआईआर दर्ज नहीं की गई तो वह कोर्ट की शरण में चली गई।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: नशे में धुत पति का बवाल

पुलिस से मांगी थी रिपोर्ट

लखविंदर कौर की शिकायत पर अदालत ने सीधे एक्शन नहीं लिया। इससे पहले अदालत (Bhopal Court News) ने शाहजहांनाबाद एसीपी से इस संबंध में रिपोर्ट मांगी थी। जिसमें यह तथ्य सामने आया कि पीड़िता विधिक सेवा प्राधिकरण में भी आवेदन लगा चुकी थी। शिकायत उत्तर भोपाल एसपी को की गई थी। अब शहर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू हो गई। पुलिस ने भी अपनी रिपोर्ट में बताया कि आरोपी ने जो करार किया उसको उसने तोड़ा है। अदालत ने एफआईआर के साथ—साथ जल्द से जल्द चार्जशीट दाखिल करने के भी आदेश दिए हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Court News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!