Murshidabad Triple Murder Case : बीमा पॉलिसी की रसीद को लेकर हुआ था विवाद, आरोपी ने गुनाह किया कबूल

Share

RSS कार्यकर्ता, उसकी गर्भवती पत्नी और 8 साल के बेटे की हत्या का मामला

Murshidbad Murder Case
परिवार के साथ बंधु प्रकाश पाल

कोलकाता। पश्चिम बंगाल (West Bengal) के मुर्शिदाबाद में हुए ट्रिपल मर्डर मामले (Murshidabad Triple Murder Case) में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी उत्पल बेहरा (Utple Behrah) ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया है। बताया जा रहा है कि बीमा पॉलिसी (Insurance Policy) की रसीद को लेकर आरोपी और आरएसएस (RSS) कार्यकर्ता बंधु प्रकाश पाल (Bandhu Prakash Pal) के बीच विवाद हुआ था। उत्पल बेहरा ने बंधु प्रकाश पाल को पीएनबी मेट लाइफ (PNB Met Life) की दो बीमा पॉलिसी के लिए पैसा दिया था।

मुर्शिदाबाद पुलिस अधीक्षक (Murshidabad SP) मुकेश कुमार (Mukesh Kumar) ने बताया कि पेशे से राजमिस्त्री उत्पल बेहरा को मंगलवार सुबह जिले के सागरडीह के साहपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया। दुर्गा पूजा उत्सव के अवसर पर 8 अक्टूबर को मुर्शिदाबाद जिले के जियागंज में 35 वर्षीय शिक्षक बंधु प्रकाश पाल (Bandhu Prakash Pal), उनकी गर्भवती पत्नी (Pregnant Wife) ब्यूटी (Beauty) और 8 वर्षीय बेटे अनगन (Angan) अपने घर में मृत पाए गए थे।

पुलिस के अनुसार, बेहरा ने पाल को दो जीवन बीमा पॉलिसियों के लिए पैसे दिए थे। “हालांकि पाल ने उन्हें पहली पॉलिसी के लिए पैसे की रसीद दी थी, लेकिन उन्होंने दूसरी पॉलिसी के लिए उन्हें रसीद नहीं दी। पिछले कुछ हफ्तों से, पाल और बेहरा इस मामले पर झगड़ा करते थे। पाल ने बेहरा का अपमान भी किया था, जिसके बाद बेहरा ने उसे मारने का फैसला कर लिया था। पुलिस ने दावा किया कि बेहरा ने गुनाह कबूल कर लिया है।

यह भी पढ़ें:   Kolkata : स्कूल के टॉयलेट में लहूलुहान हालत में मिली 10 वीं की छात्रा, मुंह पर बंधा था प्लास्टिक

इस मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (BJP), राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) ने पश्चिम बंगाल की ममता सरकार को कटघरे में खड़ा किया था। लोकसभा में कांग्रेस (Congress) के नेता अधीर रंजन ने सवाल उठाए थे।

Don`t copy text!