Rajasthan Extra Martial Affair: प्रेमी चाहता था प्रेमिका के कुछ पल, परिजनों ने पकड़कर चार दिन तक पीटा

Share

पिटाई से जख्मी युवक की मौत, बंधक बनाकर पीटने के मामले में एक दर्जन आरोपी गिरफ्तार

Jaipur Crime
सांकेतिक चित्र

जयपुर। प्रेमी को अपनी प्रेमिका से कुछ पल की मुलाकात करने का खतरा उठाना जान पर बन आया। वह जब मुलाकात करने पहुंचा तो प्रेमिका के परिजनों ने उसको दबोच लिया। मामला राजस्थान (#Rajasthan Murder) के गंगा नगर (#Ganga Nagar Murder) जिले का है। यह जिला भारत—पाकिस्तान (India-Pakistan) सीमा के बेहद नजदीक है। परिजनों ने प्रेमी को चार दिन तक बंधक बना रखा था। इस दौरान उसको बेरहमी से पीटा जाता रहा। इस पिटाई से जख्मी युवक की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस का दावा है कि अभी इस मामले में कुछ अन्य आरोपियों की भूमिका का पता लगाया जा रहा है। दरअसल, यह पूरा मामला विवाहेत्तर प्रेम प्रसंग (Extra Martial Affair) के चलते हत्या से जुड़ा है। इसलिए कई अन्य व्यक्तियों के बयान इस मामले में अभी दर्ज किया जाना बाकी है।

जानकारी के अनुसार राजस्थान (@Rajasthan Murder) के गंगा नगर (@Ganga Nagar Murder) जिले के मुकलावा थाना क्षेत्र की यह घटना है। मरने वाले व्यक्ति की पहचान हरजोत सिंह (Harjot Singh Murder Case) के रूप में हुई है। वह चक गांव का रहने वाला है। उसकी उम्र 30 साल है। वह राम सिंह (Ram Singh) के घर आता—जाता था। उसके राम सिंह की पत्नी से अवैध संबंध भी हो गए थे।  जाना था। उसका राम सिंह की पत्नी से प्रेम प्रसंग चल रहा था। वह 14 दिसंबर की रात प्रेमिका से मिलने गाया था। उसी दौरान राम सिंह ने उसे पत्नी के साथ देख लिया था। रामसिंह (#Ram Singh) ने घर के बाकी परिजनों को इस बात की जानकारी दी। परिजनों ने हरजोत को घर में ही बंधक बना लिया। उसको रस्से के साथ बांधकर घर में पटक दिया गया। उसके बाद उसके साथ मारपीट की जाती रही। राम सिंह के परिजन चार दिन तक उसको पीटते रहे। जब उसकी हालत बिगड़ने लगी तो हरजोत के घर वालों को उसकी खबर दी गई। परिजनों को हरजोत हवाले करते हुए कहा गया कि वह राम सिंह की पत्नी के साथ ऐसा कर रहा था। इसलिए उसको सबक सिखाया गया है। हरजोत की हालत देख परिजन उसे अस्पताल ले गए थे।

यह भी पढ़ें:   Rajasthan Minor Rape: डरा धमका कर नाबालिग से बलात्कार, आरोपी फरार

यहां अस्पताल में हरजोत करीब चार घंटे तक जीवन और मौत से जूझता रहा। फिर उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने इस निर्मम हत्याकांड के मामले में सतनासिंह, हरीसिंह, रामसिंह, सज्जनसिंह, गुरभगत, माडासिंह, गुरदीपसिंह सहित 12 लाेगाें को गिरफ्तार किया है। यह गिरफ्तारी हरजोत के चचेरे भाई संघ सिंह की शिकायत पर की गई है। इधर, हरजोत का शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है।

Don`t copy text!