MP Fake Currency : पैरोल पर बाहर आते ही छापने लगा नकली नोट

Share

MP Fake Currency : आरोपियों के कब्जे से 9 लाख रुपए के नकली नोट बरामद, एसटीएफ ने दो नकली नोट बनाने और दो उसको चलाने वाले आरोपियों को दबोचा

MP Fake Currency
आरोपियों से बरामद दो हजार रुपए के नकली नोट

उज्जैन। मध्य प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने नकली नोट (MP Fake Currency) चलाने वाले एक रैकेट का भंड़ाफोड़ किया है। इस रैकेट के दो आरोपी शातिर बदमाश है। दोनों पहले भी नकली नोट (Nakli Note Chalane Vala Racket) चलाने के मामले में जेल के भीतर थे। पैरोल में बाहर आने के बाद फिर उसी कारोबार में लग गए थे। गिरफ्तारी की कार्रवाई उज्जैन एसटीएफ (Ujjain STF News) की टीम ने की है। एसटीएफ (MP Special Task Force) ने नकली नोट बनाने वाले दो और उसको चलाने वाले दो ग्राहकों को आरोपी बनाया है। आरोपियों के कब्जे से 9 लाख रुपए बरामद किए गए हैं।

यह भी पढ़ें : तांत्रिक जो नागमणि की मदद से पाना चाहता था शक्ति इसके लिए नकली नोट छाप दिए

गुजरात की जेल में था बंद

एसटीएफ एसपी गीतेश गर्ग (STF SP Gitesh Garg) ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी सुनील पाटील पिता बाबूराव उम्र 33 साल निवासी बुरहानपुर, श्रीराम गुप्ता पिता दशरथ उम्र 55 साल सेंधवा बड़वानी, के आनंद (K. Anand) पिता चंद्रकेसवाला उम्र 23 बुरहानपुर और किरण चांगदेव सोडकर (Kiran Changdeo Sodkar) उम्र 40 निवासी बुरहानपुर है। इन आरोपियों में शामिल सुनील और श्रीराम पहले भी नकली नोट चलाने के मामले में गिरफ्तार हुए थे। सुनील पाटील (Sunil Patil) सितंबर, 2019 में बडौदा जेल से पैरोल पर बाहर आया था। बाहर आते ही वह इस कारोबार (Ujjain Fake Currency) में फिर सक्रिय हो गया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Robbery Case: खिड़की के रास्ते घर में घुसे बदमाश

ऐसे हुआ गिरफ्तार

उज्जैन एसटीएफ (Ujjain Special Task Force) को खबर मिली थी कि इंदौर से नकली नोट (Fake Currency Case) की एक बड़ी खेप आने वाली थी। इस सूचना पर दबिश देकर आरोपियों सुनील पाटील (Sunil Patil), श्रीराम गुप्ता, के आनंद और किरण सोंडकर को दबोचा गया। आरोपियों के कब्जे से 2000 और 500 रुपए के 9 लाख कीमत के नकली नोट बरामद किए गए। दो वाहन के अलावा असली एक लाख रुपए भी बरामद किए गए। किरण और के आनंद नकली नोट के खरीददार थे। यह दोनों कमीशन पर उसको चलाते थे।

यह भी पढ़ें : नकली नोट चलाने के लिए जाकर बैठते थे जुए के अड्डे पर
ऐसे तैयार होते थे नोट

गिरफ्तार आरोपी किरण सोंडकर नर्सरी में काम करता है। एसपी एसटीएफ गीतेश गर्ग ने बताया कि आरोपी सुनील पाटील पुराना अपराधी है। वह गुजरात (Gujrat Fake Currency Case) और मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Fake Currency) के कई शहरों में नकली नोट बनाने के मामले में गिरफ्तार हो चुका है। श्रीराम ने इंदौर में मकान किराए से लिया है। वहां रहकर यह नकली नोट बनाए जा रहे थे। सुनील पाटील ग्राफिक्स डिजायन का जानकार है। जिसकी मदद से वह नकली नोट बनाता था। एसटीएफ उससे यह पता लगा रही है कि अब तक वह कितनी जगह नोट की सप्लाई कर चुका है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case : सगाई, गर्भपात के बाद दूसरी शादी
Don`t copy text!