Bhopal News: टी—स्टॉल संचालक ने फांसी लगाई 

Share

Bhopal News: हमीदिया अस्पताल में 19 दिनों तक चला इलाज, डिस्चार्ज होकर घर पहुंचा फिर चार दिन बाद दम तोड़ा, शव पीएम के लिए भेजा गया

Bhopal News
जनहित में संदेश: आत्महत्या के विचार आना मानसिक अवसाद के लक्षण है। अकेलापन, खामोशी, चिढ़चिढ़ापन, गुस्सा आना उसके लक्षण हैं। ऐसी अवस्था में परिवार से बातचीत करें और चिकित्सकों से सलाह अवश्य ले।

भोपाल। टी—स्टॉल के एक संचालक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। घटना भोपाल (Bhopal News) शहर के हनुमानगंज थाना क्षेत्र की है। उसने घर पर फांसी लगाई थी। जिसके बाद करीब 19 दिनों तक उसका हमीदिया अस्पताल में इलाज भी चला। लेकिन, चार दिन बाद उसकी घर पर मौत हो गई। पुलिस ने शव पीएम के लिए भेज दिया है। जिसके बाद मौत की वास्तविक वजह सामने आएगी।

पुलिस ने दर्ज नहीं किए बयान, यह स्थिति नहीं हुई साफ

हनुमानगंज (Hanumanganj) थाना पुलिस के अनुसार नीरज पंथी (Neeraj Panthi) पिता गंगा राम पंथी उम्र 42 साल की मौत हो गई है। उसने फांसी लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया था। नीरज पंथी इब्राहिमगंज इलाके में रहता था। उसकी नादरा बस स्टॉप (Nadra Bus Stand) पर चाय की दुकान थी। पुलिस को मौत होने की सूचना उसके भाई दीपक पंथी (Deepak Panthi) ने दी थी। पुलिस ने बताया कि मृतक शराब पीने का आदि था। उसने 24 मई को फांसी लगाई थी। जिसको इलाज के लिए परिजन हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) लेकर पहुंचे थे। वहां से उसे 12 जून को डिस्चार्ज कर दिया गया था। उसके बाद वह अपने घर चला गया था। उसके बाद 16 जून को घर पर उसकी मौत हो गई है। इस मामले की जांच एएसआई यासीन (ASI Yasin) कर रहे हैं। हनुमानगंज पुलिस मर्ग 16/24 दर्ज कर लिया है। पुलिस अभी यह साफ नहीं कर सकी है कि जब फांसी लगाई थी तब उसके मृत्यू पूर्व कथन दर्ज हुए थे या नहीं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   यूपी की महिला ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से क्यों मांगी इच्छा मृत्यु सुनिए
Don`t copy text!