Post Office News: विकलांग कर्मचारी को यातना देने देहात में कर दिया ट्रांसफर

Share

Post Office News: चीफ पोस्ट मास्टर जनरल के पैरों में गिड़गिड़ाकर मिन्नत मांग चुके बेटे और पत्नी, अपंगता को आधार बनाकर करते हैं अफसर उसके साथ अभद्रता

Post Office News
भोपाल डाकघर फाइल फोटो।

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब पहली बार कुर्सी संभाली थी तब उन्होंने विकलांग व्यक्तियों के लिए दिव्यांग शब्द के इस्तेमाल का पुरजोर समर्थन किया था। उन्होंने समाज से अपील की थी कि ऐसे व्यक्तियों की हद से आगे जाकर मदद की जाए। लेकिन, केंद्र सरकार के अधीन संचालित डाक विभाग (Post Office News) में एक दिव्यांग पिछले दो महीनों से अफसरों के दरबार में चक्कर काट रहा है। वह घुटने नहीं टेक सकता है इसलिए आंखों में आंसू लेकर मुंह से गिडगिडाने को विवश है। मामला उसके अव्यवहारिक तबादले से जुड़ा है। जिसको डाकघर के अफसरों ने नाक का सवाल बना लिया है। इस तबादले को लेकर मानवीय आधार पर संवेदना रखते हुए उसे निरस्त करने का भी आवेदन पीड़ित व्यक्ति दे चुका है।

अफसरों की लड़ाई में टारगेट बना सब पोस्ट मास्टर

बैरागढ़ निवासी शैतान सिंह प्रजापति (Shaitan Singh Prajapati) ने बताया कि उसको नौकरी करते हुए लगभग डेढ़ दशक बीत चुके हैं। अब तक कार्य को प्राथमिकता में रखकर विकलांगता को कभी बाधा नहीं बनने दिया। प्रजापति डाक विभाग में सब पोस्ट मास्टर के पद पर तैनात है। उसका सबसे पहले नवंबर, 2022 में तबादला किया गया था। उस वक्त भी अधीक्षक डाक विभाग नीलेश शाह (Neelesh Shah) के आदेश पर वह नजीराबाद स्थित डाकघर चला गया। यहां लगभग वह एक सप्ताह नौकरी पर गया। लेकिन, बस से यात्रा के दौरान उसको कभी परेशानियां झेलना पड़ती थी। इस कारण उसने निवेदन करके अपना तबादला निरस्त करा दिया। यह पता चलने के बाद उच्च पदस्थ अफसरों ने फिर उसका तबादला नजीराबाद कर दिया। अब उसके प्रति किसी तरह की मानवीयता नहीं बरती जा रही है।

बयान देने से बच रहे जिम्मेदार अफसर

शैतान सिंह प्रजापति ने बताया कि उसका दाहिना पैर खराब है। यह बात पूरा डाक विभाग (Post Office News) भी जानता है। समस्या को देखते हुए उसे विकलांग कोटे से विभाग अतिरिक्त राशि का भी भुगतान करता है। वह इस तबादले को लेकर चीफ पोस्ट मास्टर जनरल पवन कुमार डालमिया (Pawan Kumar Dalmiya) को भी आवेदन कर चुका है। लेकिन, कर्मचारी के प्रति किसी तरह की मानवीयता नहीं बरती गई है। यह मामला कर्मचारी यूनियन के पास भी गया है। जिसमें इस मुद्दे को लेकर डालमिया के खिलाफ आंदोलन की रणनीति कर्मचारी नेता बनाने का प्रयास कर रहे है। इन आरोपों पर प्रतिक्रिया के लिए डालमिया से संपर्क किया गया। पूरी कहानी सुनने के बाद स्टेनों ने बताया कि वे वीडियो कांफ्रेंसिंग में व्यस्त हैं। इससे पहले उनकी व्यस्तता की कोई जानकारी स्टेनो ने नहीं दी थी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Post Office News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Military Welfare Scam: सैनिकों की सुविधाओं पर सेंध, हवलदार बना मोहरा
Don`t copy text!