MP Radicalization Issue: पुलिस की स्पेशल ब्रांच की विशेष मुहिम

Share

MP Radicalization Issue: धार्मिक कट्टरता के बढ़ते मामलों को लेकर महाराष्ट्र और एमपी के पुलिस अफसरों ने जताई चिंता

MP Radicalization Issue
सीबीआई के तत्कालीन निदेशक और भारतीय पुलिस सेवा के निवर्तमान अधिकारी ऋषि कुमार शुक्ला कार्यक्रम में विचार व्यक्त करते हुए। तस्वीर पुलिस मुख्यालय जनसंपर्क विभाग से जारी।

भोपाल। मध्यप्रदेश के खरगौन जिले में जमकर बवाल मचा। इससे पहले उज्जैन में भी ऐसा ही हुआ। इन्हीं घटनाओं के बीच दिल्ली के जहांगीरपुरी में दंगा मच गया। सरकार की तरफ से बुलडोजर चलाया गया। बुलडोजर और दंगे के बीच उनके मूल में धार्मिक कट्टरता (MP Radicalization Issue) की वजह थी। इसी विषय को मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र कैडर के भारतीय पुलिस सेवा के अफसरों ने चिंता जताते हुए उस पर मंथन किया। बैठक के दौरान यह बात निकलकर विषय किसी भी देश और और राज्य की आंतरिक सुरक्षा को बेहद गंभीर माना गया। विमर्श के दौरान स्वीडन, इजरायल जैसे देशों में चल रही कट्टरता की भी बात सामने आई।

पूर्व डीजीपी ने इंटरनेट के बताए खतरे

पुलिस मुख्यालय से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार यह कार्यक्रम श्यामला हिल्स स्थित इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर में आयोजित किया गया था। इसमें मुख्य रूप से मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय के विशेष शाखा की भूमिका थी। इस एक दिनी मंथन का विषय रैडिकलाइजेशन और डी—रैडिकलाइजेशन था। रैडिकलाइजेशन को हिंदी में कट्टरता कहते हें। इस मंथन कार्यक्रम का उदघाटन पुलिस महानिदेशक सुधीर सक्सेना ने किया। इसमें भारतीय पुलिस सेवा के अलावा राज्य पुलिस सेवा से जुड़े अफसर भी शामिल हुए। कार्यक्रम में महाराष्ट्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जेल अतुल एम.कुलकर्णी को ज्यादा ध्यान से सुना गया। इसके अलावा आईजी मध्यप्रदेश कानून व्यवस्था और सुरक्षा साजिद फरीद शापू, सीबीआई के पूर्व निदेशक ऋषि कुमार शुक्ला समेत कई अन्य अधिकारियों ने अपने अनुभव साझा किए। पूर्व निदेशक और डीजीपी मध्यप्रदेश शुक्ला ने कट्टरता में इंटरनेट की भूमिका को लेकर अपने कुछ अनुभव साझा करते हुए संभावित चुनौतियों के बारे में अफसरों को बताया।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Radicalization Issue
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: सिक्योरिटी सर्विस कंपनी के मालिक को चाकू मारा
Don`t copy text!