MP Political News: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ एफआईआर

Share

MP Political News: क्राइम ब्रांच को उज्जैन में हुई पत्रकार वार्ता और वर्चुअल बैठक की पैन ड्राइव भी सौंपी

MP Political News
कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री, फाइल फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Political News) की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज राजनीति के क्षेत्रों से आ रही है। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सरकार को लगातार घेर रहे थे। यह घेराव वे कोरोना संक्रमण से हुई मौत और उसकी अव्यवस्थाओं को लेकर कर रहे थे। इस बात से नाराज प्रदेश के इंदौर में आईजी हरिनारायण चारी मिश्र को और भोपाल में क्राइम ब्रांच को भाजपा के नेताओं ने ज्ञापन सौंपा था। जिसके बाद रविवार शाम भोपाल क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज कर लिया। यह केस पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ दर्ज किया गया है।

यह थी शिकायत

भाजपा भोपाल जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी के नेतृत्व में क्राइम ब्रांच में शिकायत की गई थी। इस शिकायती आवेदन पत्र में कहा गया था कि कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ ने 22 मई को उज्जैन में पत्रकार वार्ता की थी। इस दौरान उन्होंने इंडियन वैरियंट कोरोना के नाम से संबोधित करते हुए देश की छवि को धूमिल किया। जबकि डब्ल्यूएचओ की गाइड लाइन में इस बीमारी को व्यक्ति, देश, संस्था, पक्षी इत्यादि के नाम पर संबोधित न करने के लिए कहा है। इस नियम का पालन कई देश कर रहे हैं। शिकायत में यह भी कहा गया कि सरकार लाखों लोगों की मौत का आंकड़ा छिपा रही है यह बोलकर जनता के बीच भय का वातावरण पैदा करने का काम किया।

यह भी पढ़ें: हेलीकॉप्टर वाला इंजेक्शन जिसको देखने मंत्री, कमिश्नर, कलेक्टर, डीआईजी सभी गए, आज भी वह पहेली है आखिर गया कहां

यह भी पढ़ें:   Bhopal Extortion Case: कलारी मैनेजर को लाल मिर्च डालकर काटने की धमकी

इन्होंने भी किए हस्ताक्षर

MP Political News
एएसपी राजेश सिंह भदौरिया मंत्री विश्वास सारंग और भाजपा नेताओं से ज्ञापन लेते हुए— फोटो भाजपा जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी के फेसबुक से साभार

सुमित पचौरी ने कहा कि ऐसा करके पूर्व मुख्यमंत्री जनता को भड़काना चाहते थे। जिससे सरकार और प्रशासन के खिलाफ जनता बगावत करे। पचौरी ने यह भी आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों के डीएवी रेट को कम कर दिया है। यह संदेश लोगों तक न पहुंचे इसके लिए भी गंदी राजनीति पूर्व मुख्यमंत्री कर रहे है। ऐसा करके वे देशद्रोह का काम कर रहे है। इस शिकायती पत्र में पूर्व प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा, मंत्री विश्वास सारंग, विधायक कृष्णा गौर, सीमा सिंह, पूर्व महापौर आलोक शर्मा, राहुल कोठारी समेत कई अन्य भाजपा नेताओं के हस्ताक्षर थे।

यह भी पढ़ें: नेहरु को कोसते—कोसते सांस उखड़ आती थी, आज उन्हीं की विरासत से बच रही है नाक

आधिकारिक बयान देन में सांसें फूल गई

MP Political News
पुलिस नियंत्रण कक्ष, भोपाल- फाइल फोटो

पुलिस सूत्रों के अनुसार पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ दर्ज एफआईआर की पुष्टि को लेकर एसपी मुख्यालय रामजी श्रीवास्तव से प्रतिक्रिया ली गई। उन्होंने बताया कि भाजपा जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी ने क्राइम ब्रांच में आवेदन दिया था। जिसके आधार पर धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 54 के तहत केस दर्ज किया गया है। आवेदन देने के लिए भाजपा के कई नेता क्राइम ब्रांच पहुंचे थे। इससे पहले कई अफसरों के फोन बंद मिले या फिर अफसर बैठकों में व्यस्त होना बताते रहे।

Don`t copy text!