भूसे के ढ़ेर में लगी आग, 3 बच्चे जिंदा जले

मुख्यमंत्री ने जताया दुख, पीड़ित परिवारों को मुआवजे का ऐलान

सांकेतिक चित्र

गंजाम। Ganjam 3 Children Killed  ओडिशा (Odisha) के गंजाम (Ganjam) जिले में एक दर्दनाक हादसा हो गया। भूसे के ढ़ेर में आग लगने से तीन बच्चे जिंदा जल गए। वहीं एक बच्चा बुरी तरह झुलस गया। 60 फीसदी तक झुलसे बच्चे को बेरहामपुर के एमकेसीजी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। घटना खैराचट्टा गांव की है, जहां बच्चे खेत में भूसे के ढ़ेर के पास खेल रहे थे। उसी दौरान ढ़ेर में आग लग गई। पुलिस अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि मरने वाले तीनों बच्चों की उम्र 10 वर्ष से कम थी। मृतक बच्चों की पहचान जयराम, दीपक गौंडा और इतिश्री के रूप में हुई है। घटना पर ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने दुख जताया है। उन्होंने पीड़ित परिवारों को 4-4 लाख और घायल बच्चे के परिवार को 2 लाख रुपए मुआवजा देने की बात कही है। नवीन पटनायक ने कहा कि “मैं शोक संतप्त परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और पीड़ितों के परिजनों के लिए 4 लाख रुपए की घोषणा करता हूं।” सीएम ने घायल बच्चे के मुफ्त इलाज की भी घोषणा की और उसके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

जंगली हाथियों ने तीन लोगों को रौंदा

वहीं ओडिशा के पुरी जिले में जंगली हाथियों ने आतंक मचाया। अलग-अलग घटनाओं में 3 लोगों की मौत हो गई और 5 अन्य घायल हो गए। पुलिस ने रविवार को बताया कि देलांग और पीपली पुलिस थाना सीमा में कई गांवों में हाथियों ने आतंक मचाया। तीन लोगों को हाथियों ने बुरी तरह रौंद दिया था। दो की रविवार सुबह मौत हो गई, वहीं एक ने शनिवार रात दम तोड़ दिया था। पुलिस ने कहा कि शनिवार रात को गोपीनाथपुर, राजेटी और चंद्रदेईपुर जैसे गांवों में घुसे हाथियों ने कुल आठ लोगों पर हमला किया। पुलिस ने कहा कि उनमें से तीन की मौत हो गई, जबकि पांच घायल हो गए। वन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि वे हाथियों को मानव निवास क्षेत्रों से बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हैं और लोगों को चेतावनी दी है कि वे अपने घरों से बाहर न निकलें।

यह भी पढ़ें:   Puri Rape Case : आदिवासी लड़की की बस में लग गई नींद, कंडक्टर ने बनाया हवस का शिकार
Don`t copy text!