Bhopal Station Mishap: फुट ओवर ब्रिज के रैम्प का हिस्सा टूटकर गिरा

भोपाल रेलवे स्टेशन में हुई घटना के बाद भगदड़ मची, आधा दर्जन से अधिक जख्मी, दो की हालत नाजुक, डीआरएम ने जांच कमेटी बैठाई

Bhopal Railway Station Mishap
यह है वह जगह जो अचानक टूटकर नीचे प्लेटफार्म पर खड़े यात्रियों पर गिरा था

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) फुट ओवर ​ब्रिज के रैम्प का एक हिस्सा टूटकर (Bhopal Station Mishap) गिर गया। हादसा गुरुवार सुबह सवा नौ बजे प्लेटफार्म नंबर 2—3 के बीच हुई है। घटना मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) रेलवे जंक्शन की है। हादसे में 7 लोगों के जख्मी होने के समाचार हैं। जिन्हें चिरायु अस्पताल (Chirayu Hospital) में भर्ती कराया गया है। घटना को लेकर भोपाल डीआरएम (Bhopal DRM) ने जांच कमेटी गठित कर दी है। प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा (Minister PC Sharma) स्वयं मौके पर पहुंचे थे। सरकार ने घायलों को आर्थिक मदद देने का भरोसा दिया है। वहीं रेलवे विभाग ने भी घायलों को नियमों के अनुसार राहत पहुंचाने का आश्वासन दिया है।

लोगों की जुबानी घटना की कहानी
रेलवे स्टेशन में हर घंटे 1000 से अधिक लोगों की मौजूदगी रहती है। इसमें रेलवे स्टाफ, वेंडर के अलावा आने—जाने वाले यात्री होते हैं। सामान्य दिनचर्या में ही 300 से अधिक लोग यहां रहते हैं। जब घटना हुई तब संपर्क क्रांति एक्सप्रेस (Sampark Kranti Express) आने वाली थी। उसका स्टापेज प्लेटफार्म नंबर 2—3 पर ही होता है। ट्रेन में सवार होने के लिए यात्री और उनके रिश्तेदार प्लेटफार्म पर चहलकदमी कर रहे थे। तभी जोरदार आवाज के साथ फुट ओवर ब्रिज का एक बड़ा हिस्सा भरभराकर नीचे गिर गया। घायलों की चीख—पुकार मच गई। सबकुछ बेतरतीब हो गया। आनन—फानन में रेलवे ने संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को दूसरे प्लेटफार्म में शिफ्ट किया। मौके पर रेस्क्यू अभियान चलाया गया। काफी देर तक यह हंगामा होता रहा कि भीतर दो व्यक्ति दबे हुए हैं। इसके बाद पूरे मलबे को निकालकर संतुष्टि की गई। घायलों को स्टेशन पर मौजूद आटो और एम्बुलेंस की मदद से चिरायु अस्पताल पहुंचाया गया।
यह भी पढ़ें : महंगी पड़ी छात्रों को रफ्तार के मस्ती, एक की मौत दो गंभीर

यह भी पढ़ें:   Bhopal Loot: लूट का मामला चोरी मेें दर्ज

नहीं तो हादसा बड़ा होता
घटना को लेकर अभी तक जिम्मेदारी तय नहीं की गई है। भोपाल रेलवे डीआरएम उदय बुनकर ने कहा कि मामले की जांच के लिए कमेटी का गठन किया गया है। यह तकनीकी कमेटी की टीम जबलपुर से भोपाल आ गई है। डीआरएम ने कहा कि वह अपनी रिपोर्ट देगी उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। हादसा बहुत ज्यादा भयावह होता यदि वहां पार्सल नहीं होते। दरअसल, फुट ओवर ब्रिज के नीचे बोरों में भरे पार्सल रखे थे। जिसकी वजह से वहां खड़े लोगों की संख्या ज्यादा नहीं थी। जब घटना हुई उस वक्त रेलवे स्टेशन पर ट्रेन भी नहीं थी। यदि यह दोनों बातें होती तो भोपाल में काफी तनाव होता।

यह भी पढ़ें : दुर्घटना के बावजूद “दिशा” दे गई समाज को दिशा

Bhopal Railway Station Mishap
पूर्व मंत्री और नरेला से भाजपा विधायक विश्वास सारंग अस्पताल में घायलों से बातचीत करते हुए

घटना पर राजनीति शुरु
घटना का पता चलने पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Former CM Shivraj Singh Chouhan) ने ट्वीट किया। इसमें उन्होंने दो लोगों के मरने की जानकारी दे दी। जिसके बाद कांग्रेस की तरफ से पलटवार किया गया। कांग्रेस ने कहा कि हादसे में लोग जख्मी है उन्हें राहत पहुंचाने का काम सरकार की तरफ से किया जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री को अहसास हुआ कि उनसे चूक हो गई है तो उन्होंन ट्वीट डिलीट कर दिया। इस मामले में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा (Minister PC Sharma) ने कहा कि भाजपा हादसे में राजनीति कर रही है। वहीं उन्होंने बताया कि सरकार की तरफ से घायलों को 50—50 हजार रुपए की सहायत दी जा रही है। इधर, राजनीति के सवाल पर पूर्व मंत्री और विधायक विश्वास सारंग (BJP MLA Vishwash Sarang) ने कहा कि राजनीति कांग्रेस की सरकार कर रही है। उधर, रेलवे की तरफ से प्रवक्ता आईए सिद्दीकी (PRO IA Siddiqui) ने कहा कि घायलों को रेलवे की तरफ से मुआवजा दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें:   Rewa Crime: महंगी पड़ी पत्नी से दुश्मनी, जालसाजी में फंसा पति

यह भी पढ़ें: परिवार को यकीन नहीं हुआ छप्पर फाड़कर आ गई बच्चे की मौत

यह हुए हैं घायल
मौके पर पहुंचने वालों में जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा के अलावा पूर्व मंत्री विश्वास सारंग, एडीजी डीसी सागर समेत कई अन्य अफसर भी थे। रेलवे विभाग ने बाकी के जर्जर हिस्से को भी गिरा दिया। इधर, दोपहर तीन बजे जबलपुर से जांच टीम भोपाल पहुंच गई थी। हादसे में जो घायल हुए हैं उनमें बच्चे और महिलाएं शामिल है। आरिफ नगर निवासी आजम, खालिद बैग, माहिद, मरियम बैग, सलीम, खालिद उर रहमान और अनुपम शर्मा जख्मी है। इन सभी का इलाज अस्पताल में चल रहा है।

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!