TCI Impact: ट्रक ड्रायवर की खबर जानने के बाद भड़के सीएस

पुलिस नहीं दे रही थी माल उतारने से लेकर जाने की अनुमति, अब फोन करके माल खाली करने की दी गई परमिशन

MP Covid Effect
जंगल में फसा ट्रक ड्राइवर

भोपाल। (Bhopal Hindi News) यह सच है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) देश के लिए खतरा है। लेकिन, इस खतरे से निपटने की बजाय कई जगहों पर दहशत फैलाया जा रहा है। ऐसी ही एक दहशत की दास्तां www.thecrimeinfo.com (द क्राइम इंफो डॉट कॉम) ने बुधवार को उजागर की थी। दहशत के बीच फंसा हुआ था ट्रक ड्रायवर, जिसने द क्राइम इंफो से मदद मांगी थी। उसकी आवाज हमने समाचार के माध्यम से हर जगह पहुंचाई थी। जिसके बाद मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस (CS Iqbal Singh Bais) सक्रिय हुए। उन्होंने पूरे प्रदेश के कलेक्टर—एसपी को आदेश दिया कि कोई भी ट्रक या माल वाले वाहन को नहीं रोका (TCI Impact) जाएगा। उन्हें बेरोकटोक गंतव्य तक पहुंचाने में मदद की जाएगी। इस आदेश के बाद ट्रांसपोर्ट कमिश्नर ने भी उसको अपनी तरफ से जारी किया।

अजमेर में रहने वाले गोपाल लाल वैष्णव (Gopal Lal Vaishnav) ने बुधवार सुबह द क्राइम इंफो के ब्यूरो चीफ से फोन पर मदद मांगी थी। वह मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Hindi News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Hindi News) से सटे रायसेन जिले के सिलवानी थाना क्षेत्र में चार दिनों से फंसा हुआ था। वह हैदराबाद से माल लेकर यहां पटेल वेयर हाउस में आया था। उसे न माल उतारने दिया जा रहा था और न ही उसको अजमेर जाने की अनुमति दी जा रही थी। वह जहां ठहरा हुआ था वह इलाका जंगली भी था। उसने अपनी तस्वीर भी हमारे साथ साझा की थी। पहले तो उसकी मदद के लिए हमने रायसेन एसपी मोनिका शुक्ला (SP Monika Shukla), रायसेन कंट्रोल रुम और सिलवानी थाना प्रभारी का भी नंबर दिया। लेकिन, सारे अफसरों ने कोरोना महामारी को लेकर अपनी व्यस्तता बताकर उसकी कोई मदद नहीं की। यह समाचार प्रमुखता से हमने प्रकाशित किया। जिसके बाद मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस ने आदेश जारी किए। यह आदेश सुनकर गोपाल ने राहत की सांस ली है। उसने मध्य प्रदेश प्रशासन के साथ—साथ द क्राइम इंफो को धन्यवाद दिया है। उसने बताया कि उसको शाम को जाने की अनुमति मिल गई है। वह माल उतारकर अजमेर के लिए रवाना हो जाएगा।

यह भी पढ़ें:   MP IPS Transfer: मध्यप्रदेश में पुलिस कमिश्नर प्रणाली की फिर से सुगबुगाहट

मुख्य सचिव ने अपने आदेश में कहा कि अत्यावश्यक वस्तुए न बताकर ट्रकों को रोका जा रहा है। जबकि पूर्व में ही इस संबंध में निर्देश दिए जा चुके हैं। सीएस ने कहा कि मध्य प्रदेश के बाहर और सीमा में ट्रक नहीं रोका जाए। ट्रक चालक से कोई अनुमति पत्र भी नहीं मांगा जाए। इस आदेश के बाद ट्रांसपोर्ट कमिश्नर वी मधु कुमार (V.Madhu Kumar) ने सभी आरटीओ कको बैरियर या चेक पोस्ट पर ट्रक रोकने पर आपत्ति उठाई। उन्होंने भी कहा कि यदि ऐसा उनकी जानकारी में आया तो कार्रवाई की जाएगी।

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!