MP Political Drama: छह मंत्री बर्खास्त, भोपाल एयरपोर्ट से बैंगलुरु के लिए विधायक वापस

राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात करके मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर जताई नाराजगी

MP Political Drama
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल स्थित राजा भोज विमानतल पर तैनात सीआईएसएफ के जवान जो विधायकों की सुरक्षा के लिए थे

भोपाल। (Bhopal Political News In Hindi) मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन (MP Governor Lalji Tondan) ने छह मंत्रियों को बर्खास्त कर दिया है। यह वे मंत्री है जो बागी होकर बैंगलुरु के रिसॉर्ट (Bengluru Resort) में ठहरे हुए हैं। बर्खास्तगी से पहले मुख्यमंत्री कमल नाथ (CM Kamal Nath) ने गर्वनर हाउस जाकर मुलाकात की थी। इधर, भोपाल के राजाभोज विमानतल (Rajabhoj Airport) पर दिनभर नाटकीय घटनाक्रम चलता रहा। इस बीच बैंगलुरु से भोपाल पहुंचे विधायकों ने अज्ञात खतरा बताकर वापस रवाना हो गए। जबकि विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति (Speakar NP Prajapati) के सामने हाजिर होना था। प्रदेश में लगभग एक पखवाड़े से चल रहा यह राजनीतिक गतिरोध (Madhya Pradesh Political Drama) अभी भी बरकरार है।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह मुख्यमंत्री कमल नाथ गर्वनर हाउस पहुंचे। यहां उन्होंने राज्यपाल लालजी टंडन को अपना पत्र सौंपा। इसमें छह मंत्रियों को बर्खास्त करने के लिए भी कहा गया था। पत्र सौंपने के बाद मुख्यमंत्री ने मीडिया से बातचीत की। उन्होंने कहा कि राजनीति भी कोरोना वायरस से प्रभावित चल रही है। उन्होंने बताया कि राज्यपाल से शिकायत की गई है कि विधायकों को बंधक बनाकर बैंगलुरु रिसॉर्ट में रखा गया है। उनकी घर वापसी कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि विधायकों के बिना फ्लोर टेस्ट न्याय संगत नहीं हो सकेगा। इस मुलाकात के बाद राज्यपाल ने प्रदेश में छह मंत्री इमरती देवी (Imrati Devi), तुलसीराम सिलावट (), गोविंद सिंह राजपूत, महेन्द्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर और डॉक्टर प्रभुराम चौधरी को बर्खास्त करने का आदेश जारी कर दिया गया। इन मंत्रियों के विभागों का प्रभार भी दूसरे मंत्रियों को सौंप दिया गया। मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में गुरुवार सुबह बैंगलुरु के रिसोर्ट में हुई घटना की भी जानकारी दी। इस संबंध में जीतू पटवारी ने शुक्रवार को कर्नाटक के डीजीपी से मुलाकात करके आवेदन सौंपा गया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation: ट्यूटर ने 7 साल की बच्ची से की छेड़छाड़

छावनी में तब्दील एयरपोर्ट
पूरे प्रदेश में राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर विरोध—प्रदर्शन भी शुरु हो गया है। कई जिलों में ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत बागी विधायकों के पुतले जलाए जा रहे हैं। इधर, बैंगलुरु से विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति के सामने हाजिर होना था। विधायक भोपाल पहुंचते उससे पहले विमानतल से लेकर विधानसभा भवन तक छावनी बना दिया गया। भोपाल एयरपोर्ट पर सीआईएसएफ जवानों के अलावा स्थानीय पुलिस को भी तैनात किया गया। यहां भाजपा—कांग्रेस दोनों दलों के नेता भारी संख्या में जमा थे। इस दौरान दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्का—मुक्की भी हुई। इससे पहले एयरपोर्ट के आस—पास धारा 144 लगा दी गई थी। भारी उहापोह के बीच बागी विधायक विमानतल पर तो पहुंचे लेकिन, बाहर नहीं आए। उन्होंने अज्ञात खतरा बताकर वापसी बैंगलुरु की फ्लाइट पकड़ ली।

MP Political Crisis
तस्वीर के राजनीतिक मायने निकलने शुरु, मध्य प्रदेश में सियासत करवट ले रही है और यह तस्वीर बयां कर रही है संकट अभी दूसरे भी खड़े होने वाले हैं

डिनर डिप्लोमेसी
उधर, शुक्रवार को भाजपा की तरफ से उम्मीदवार बनाए गए राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया और प्रोफेसर सुमेर सिंह सोलंकी ने अपना नामांकन दाखिल किया। कांग्रेस की तरफ से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और फूल सिंह बरैया ने नामांकन दाखिल किए हैं। सिंधिया के नामांकन दाखिल करने से पहले डिनर डिप्लोमेसी चलती रही। सिंधिया ने पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के अलावा पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निवास पर भोजन किया। खबर है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जय प्रकाश नड्डा शनिवार को बैंगलुरु पहुंचेंगे। यहां वे सिंधिया खेमे के विधायकों से चर्चा करेंगे। सूत्रों के अनुसार भाजपा भी भीतरघात खतरे को भांप रही है। इसलिए सांसद राकेश सिंह और पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय को हरियाणा के गुड़गांव में स्थित रिसॉर्ट में भाजपा विधायकों की निगरानी के तैनात किया है। भाजपा की तरफ से मीडिया के सामने एक—एक करके सारे पत्ते उजागर किए जा चुके हैं। जबकि कांग्रेस भीतर ही भीतर रणनीति बनाकर राजनीतिक संकट को टालने का प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhiwandi Loot Case : क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ा कुख्यात लुटेरा, महाराष्ट्र से लूटा था करोड़ों का सोना

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!